NEET 2021: NEET को क्यों खत्म करना चाहती है तमिल नाडु सरकार? जानें वजह


नई दिल्ली. NEET 2021: तमिलनाडु सरकार ने सोमवार को केंद्रीकृत मेडिकल प्रवेश परीक्षा NEET 2021 से छूट का एक विधेयक पेश किया है. मुख्यमंत्री एमके स्टालिन ने सोमवार को विधानसभा में विधेयक पेश किया. सरकार चाहती है कि उनके राज्य के छात्रों को केंद्रीकृत परीक्षा से छूट दी जाए. वे चिकित्सा उम्मीदवारों के लिए एक और प्रवेश प्रक्रिया की तलाश कर रहे हैं. जबकि राज्य का प्रस्ताव है कि छात्रों को कक्षा 12 के स्कोर के आधार पर मेडिकल कॉलेजों में भी प्रवेश दिया जा सकता है.

इसके अलावा तमिलनाडु सरकार ने सरकारी स्कूलों के छात्रों के लिए मेडिकल कॉलेजों में 7.5% सीटों के आरक्षण का प्रस्ताव भी दिया है. सरकार ने बताया कि वैकल्पिक प्रवेश प्रक्रिया को अंतिम रूप दिया जाना बाकी है. विधानसभा में विधेयक के पेश होने से DMK सरकार द्वारा NEET के विरोध को औपचारिक रूप दे दिया गया है. इससे राज्य-केंद्र के बीच सहयोग का मंच भी तैयार होता है कि राज्य को विवादास्पद मेडिकल टेस्ट से कैसे छूट दी जाए.

NEET 2021: केंद्र सरकार ने भी किया है विकल्पों पर विचार
केंद्र सरकार पहले से ही नीट आयोजित करने के विकल्पों पर विचार कर रही थी. शिक्षा मंत्रालय और स्वास्थ्य मंत्रालय ने साल में दो बार मेडिकल प्रवेश परीक्षा कराने को लेकर चर्चा भी की थी. हालांकि इस साल इसे लागू करने का प्रस्ताव था, लेकिन आम सहमति के अभाव के कारण इसे लागू नहीं किया जा सका. हांलाकि साल में एक से अधिक बार परीक्षा आयोजित करने पर बातचीत अभी भी जारी है.

ये भी पढ़ें-
UP ANM Recruitment 2021: यूपी में एएनएम की 5000 नौकरियां, देखें पूरी डिटेल
Assam Rifles Recruitment 2021: असम राइफल्स में 10वीं पास के लिए नौकरियां

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.



Source link

Leave a Reply