100 लड़कों का रेप कर शख्स ने एसिड में गलाई लाशें, जज ने सुनाई रौंगटे खड़े करने वाली सजा


अपराध करने वाले को ऐसा लगता है कि वो काफी शातिर है. उसका क्राइम कभी पकड़ा नहीं जाएगा. लेकिन इस कॉन्फिडेंस में वो कुछ ऐसा कर बैठता है, जिससे उसकी पहचान उजागर हो ही जाती है. ऐसा ही कुछ सोचा था पाकिस्तान में रहने वाले जावेद इक़बाल (Javed Iqbal) ने. जावेद को पाकिस्तान का सबसे खूंखार अपराधी (Most Evil Criminal) कहा जाता है. इकबाल पर सौ लड़कों का रेप (Man Raped 100 boys) करने और फिर उसकी हत्या करने का आरोप था. पाकिस्तान कोर्ट ने इस अपराध के लिए इकबाल को जो सजा सुनाई थी, उसकी काफी चर्चा हुई थी.

पाकिस्तान का ये अपराधी पहले मासूम लड़कों को अकेले में ले जाता था. इसके बाद उनके साथ रेप की वारदात को अंजाम देने के बाद उसकी हत्या कर देता था. लाश को ठिकाने लगाने के लिए इकबाल एसिड को टब में भरकर उसमें लाश के टुकड़े डूबा देता था. लाश के गल जाने पर उसे नाली में बहा देता था. खुद इकबाल ने अपने क्राइम को पुलिस के सामने कबूल किया था. उसके अपराध करने के तरीके को जानने के बाद पुलिस भी हैरान रह गई.

कोर्ट ने सुनाई थी सजा
इस अपराध के सामने आने के बाद कोर्ट के जज ने इकबाल को उसी के अपराध के तरीके सजा देने का फैसला किया था. कोर्ट ने सुनवाई में कहा था कि अब तक अपराधी ने जितने लड़कों की हत्या की है, उसके घरवालों के सामने ही इकबाल के 100 टुकड़े कर उसकी बॉडी को एसिड में डुबाया जाए. पाकिस्तान कोर्ट के इस इंसाफ की काफी तारीफ हुई थी. लेकिन बाद में पाकिस्तानी सरकार ने इस सजा पर रोक लगा दी थी. उन्होंने इस अमानवीय कहा था. बाद में इक़बाल ने खुद ही जेल में अपनी जान दे दी थी.

ऐसे बनाता था शिकार
956 में पैदा हुआ इकबाल पहले सड़क पर घूमने वाले भिखारी या बच्चों को देखते ही उन्हें खाना और घर देने का लालच देकर साथ ले जाता था. इसके बाद उनका रेप कर हत्या कर देता था. फिर डेड बॉडी के टुकड़े कर उसे एसिड में गला देता था. इकबाल का शिकार ज्यादातर 6 से 16 साल के लड़के हुआ करते थे. इस क्राइम ने पाकिस्तान के साथ-साथ पूरी दुनिया में सनसनी मचा दी थी. उसने कहा था कि जैसे मेरी मां मेरे लिए रोती थी, वो चाहता था कि 100 और मां भी रोए.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.



Source link

Leave a Reply